Bethlehem ki goushala me lyric

बेथलेहम की गौशाला में जीवन का उज्याला है ;
यहाँ स्वयं आकाश उतर कर इस धरली पर आया है
|

1 .नभ में होती उसकी महिमा , दूतो की वाणी में गौरव ;
गाती है सागर की लहरे , यीशु जग में आया है
|

2 खोज रहा संसार जिसे था , युग -युग का संताप लिए ;
नव जीवन की आशा बनकर , जग का तारक आया है
|

3 .क्यों होते मायूस हो साथी , देख जगत का अँधियारा ;
दुःख – चिंता सब दूर करेगा , जो मरियम का जाया है
|

4 .गावो मिलकर यीशु की जय , जय – जय यीशु मसीहा की ;
जो पापों से मुक्ति देने जग में जन्म ले आया है
|

Bethlehem ki goushala me jiwan ka ujyala hai
yaha svayn akash utar kar is dharli par aya hai

1 .nabh me hoti uski mahima , duto ki wani me gourv
gati hai sagar ki lahre , yeshu jag me aya hai

2 .khoj raha sansar jise tha , yug -yug ka santap liye ;
nav jivan ki asha bankar , jag ka tarak aya hai

3 .kyo hote mayus ho sathi , dekh jagat ka andhiyara
dukh – chinta sab dur karega , jo mariyam ka jaya hai

4 .gavo milkar yeshu ki jai , jai – jai yeshu masiha ki ;
jo papo se mukti dene jag me janm le aya hai

Leave a Reply